10 वीं के बाद क्या करें


दोस्तों में आपको बहुत ही कम तथा सरल शब्दों में बता रहा हूँ, कि दसवीं पास होने के बाद क्या करे। यहाँ हम ऐसे पड़ाव पर होते है, कि हमारे सामने कई रास्ते होते है। यही से ही हमारे कॅरिअर की तरफ का पहला कदम शुरू होता है। अब हमें कौनसा रास्ता चुने, यह बहुत महत्वूर्ण होता है।

इस समय हम स्वयं भी डिसीजन ले सकते है। किन्तु पेरेंट्स, शिक्षक एवं अन्य लोगो से सलाह लेना हमारे कॅरियर को नई दिशा दे सकता है। सबसे पहले हमें डिसाईड करना होता है, की हमें क्या बनाना है।

हमारे देश में १० वी क्लास तक हमें सभी सब्जेक्ट पढ़ाये जाते है। जिससे हमें सभी सब्जेक्ट का बेसिक ज्ञान मिलता है। १० वी पास होने के बाद हमें किसी एक सब्जेक्ट को चुनना होता है, जो हमारे कॅरिअर के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है।

दसवीं के बाद सब्जेक्ट चुनना ही हमारे कॅरियर की तरफ पहला कदम होता है। इसलिए सही सब्जेक्ट का चुनाव बहुत जरुरी है। यदि हमने बिना सोचे-समझे गलत सब्जेक्ट का चुनाव कर लिया तो हम कॅरियर की दिशा में भटक सकते है। एवं उसका परिणाम आपको जीवन भर भुगतना पड़ सकता है।

सब्जेक्ट कैसे चुने

दोस्तों १० वी के बाद सब्जेक्ट चुनने के पहले अपना उद्देश्य निश्चित करें कि भविष्य में आपको क्या बनना है और उसी गोल की ओर बढ़ें भेड़ चाल में न चलें, अपने दोस्तों की देखा-देखी कभी न करें। आप जो विषय लेना चाहते हैं उसके बारे में इंट्रेस्ट, क्षमता, कमजोरी, संभावनाएं और रिस्क के आधार पर अपना आकलन जरूर करें। अपनी क्षमता को बढ़ाएं और अपनी कमजोरियों को कम करने की कोशिश करें। सब्जेक्ट लेने के पहले उससे सम्बंधित कॉलेज और स्कोप के बारे में भी अवश्य पता कर लेवे।

सब्जेक्ट चुनने के पहले आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए:-
  • इंट्रेस्ट किस सब्जेक्ट में है
  • हमें क्या बनना है
  • हमारा फैमिली बैकग्राउंड क्या है
  • फैमिली की आर्थिक स्थिति क्या है
  • बड़ों की सलाह अवश्य लें
  • सलाह से कंफ्यूज न हो
  • करियर काउंसलर से सलाह
  • प्रत्येक सब्जेक्ट के बारे में जरूर जाने
  • अन्य विकल्प 

इंट्रेस्ट किस सब्जेक्ट में है
अपने इंट्रेस्ट के हिसाब सब्जेक्ट लेने के पहले यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए, कि उस सब्जेक्ट में आगे क्या भविष्य है। मान लीजिये आपका इंट्रेस्ट मेथ्स में है, तो आप मेथ्स सब्जेक्ट ले सकते है। किन्तु मेथ्स सब्जेक्ट लेकर आप क्या बनोगे यह भी आपको पता होना चाहिये।

हमें क्या बनना है
हर किसी के मन में बचपन से ही यह इच्छा होती है, कि हमें डॉक्टर बनना है, या इंजीनियर बनना है। लेकिन हमें डॉक्टर बनना है, तो उसके लिए हमें अलग सब्जेक्ट लेना होगा और इंजीनियर बनना है, तो उसके लिए हमें अलग सब्जेक्ट लेना होगा। या और कुछ बनना है, तो उसके लिए कौनसा सब्जेक्ट लेना होगा यह सुनिश्चित कर लेवे। फिर ही सब्जेक्ट का चयन करे।

हमारा फैमिली बैकग्राउंड क्या है
हम अपने फैमिली बैकग्राउंड के हिसाब से भी सब्जेक्ट ले सकते है। मान लीजिये आपको आपके पिताजी का बिज़नेस संभालना है, तो उसके हिसाब से सब्जेक्ट ले सकते है। यह निर्भर करता है, कि आपके पिताजी का बिज़नेस क्या है।

फैमिली की आर्थिक स्थिति क्या है
हमारी फैमिली की आर्थिक स्थिति के अनुसार भी हमें सब्जेक्ट लेना पड़ सकता है, हो सकता है आगे की महँगी पढ़ाई का खर्च हम वहन नहीं कर सके।

बड़ों की सलाह अवश्य लें
हमे अपने माता-पिता, शिक्षक या परिवार के अन्य बड़े लोगो से सलाह लेना चाहिए।

सलाह से कंफ्यूज न हो
हमें अलग-अलग मिलने वाली सलाह से कंफ्यूज नहीं होना चाहिए। हर व्यक्ति अपने एक्सपेरिएंस के  हिसाब अलग राय देता है। अतः हमें स्व विवेक से भी काम लेना चाहिए।

करियर काउंसलर
अगर आप कुछ भी डिसाइड नहीं कर पा रहे हैं तब करियर काउंसलर की मदद लें सकते है। करियर काउंसलर आपके लिए बेस्ट करियर ऑप्शन चुनने में मदद कर सकता है।

अन्य सब्जेक्ट में कॅरियर विकल्पो का अध्ययन
आपको किसी एक सब्जेक्ट का चयन करने के पूर्व अन्य सब्जेक्ट में उपलब्ध करियर विकल्पों का भी अध्ययन कर लेना चाहिए। हो सकता है आपको अच्छा विकल्प मिल जाए। जिसमे अच्छे करियर की संभावनाए बहुत अधिक हो।

१० वी के बाद और भी बहुत से विकल्प मौजूद है। जैसे आप कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी कर सकते हो।

१० वी के बाद निम्न ऑप्शन होते है
साइंस/मेथ्स PCM/PCB
कॉमर्स Commerce
आर्ट्स Arts
डिप्लोमा ITI/Polytechnic
अन्य विकल्प